Happy Birthday Ravichandran Ashwin : Ravichandran Ashwin के 36वां जन्मदिन पर जानिए रविचंद्रन अश्विन नाम है ये पांच बड़े रिकॉर्ड 

cricket

भारतीय टीम के बेहतरीन स्पिनर रविचंद्रन अश्विन आज अपना 34वां जन्मदिन मना रहे हैं। अश्विन का जन्म 17 सितंबर, 1986 को तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में हुआ था। अश्विन शुरुआती दिनों में अपनी कैरम बॉल के लिए काफी मशहूर हुए थे। उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ साल 2005 में वनडे खेलकर अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का आगाज किया था। वह भारत की ओर से क्रिकेट के तीन फॉर्मेट टेस्ट, वनडे और टी20 अंतरराष्ट्रीय में अपना जलवा दिखा चुके हैं। हालांकि, अश्विन कई साल से वनडे और टी20 अंतरराष्ट्रीय टीम में नजर नहीं आए हैं।

रविचंद्रन अश्विन ने भारत के लिए 111 वनडे, 71 टेस्ट और 46 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं। तीनों फॉर्मेट में उनके नाम कुल 567 विकेट दर्ज हैं। उन्होंने टेस्ट मैचों में 365 विकेट, वनडे मैचों में 150 विकेट और टी20 अंतरराष्ट्रीय में 52 विकेट अपने खाते में डाले हैं। उन्होंने अपने 10 साल के करियर में बेहद उतार-चढ़ाव देखे हैं। मौजूदा समय में अनिल कुंबले और हरभजन सिंह के बाद अश्विन ही भारत के सबसे सफल फिरकी बॉलर हैं। अश्विन के नाम कई ऐसे रिकॉर्ड दर्ज हैं जो उन्हें एक शानदार क्रिकेटर बनाते हैं।

आइये जानते हैं अश्विन के करियर के ये 5 खास रिकॉर्ड 

1 .रविचंद्र अश्विन अपने डेब्यू टेस्ट मैच में ‘मैन ऑफ द मैच’ अवॉर्ड हासिल किया था। अश्विन डेब्यू टेस्ट में ‘मैन ऑफ द मैच’ चुने जाने वाले चौथे भारतीय क्रिकेटर थे। उनसे पहले नरेंद्र हिरवानी, प्रवीण आमरे और आरपी सिंह यह उपलब्धि हासिल कर चुके हैं।

2. अश्विन सबसे तेज 100 टेस्ट विकेट लेने वाले भारतीयों की फेहरिस्त में पहला स्थान पर हैं। उन्होंने 18वें टेस्ट मैच 100 विकेट पूरे किए थे। अश्विन से पहले यह रिकॉर्ड इरापल्ली प्रसन्ना के नाम था, जिन्होंने 20 टेस्ट मैच में यह कारनामा किया था।

3. वह टेस्ट क्रिकेट में सबसे कम मैच में 50, 100, 150 और 200 विकेट चटकाने वाले भारतीय खिलाड़ी है। साथ ही वह सबसे तेज 250 और 300 विकेट लेने के मामले में दुनिया में पहले नंबर पर हैं। उन्होंने अपने 45वें टेस्ट में 250वां और 54वें टेस्ट में 300वां विकेट हासिल किया। उन्होंने 18 टेस्ट मैच में ही अपने 100 विकेट पूरे कर लिए थे।

4. अश्विन टेस्ट क्रिकेट में एक ही मैच में शतक और पांच विकेट झटकने का कारनामा दो बार कर चुके हैं। वह ऐसा करने वाले भारत के इकलौते क्रिकेटर हैं। उन्होंने दोनों बार यह कारनामा वेस्टइंडीज के खिलाफ अंजाम दिया।

5. रविचंद्र अश्विन टेस्ट क्रिकेट में छह बार ‘मैन ऑफ द सीरीज’ का खिताब अपने नाम कर चुके हैं। वह इस मामले में महान भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर और पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग से भी आगे हैं। सचिन और सहवाग पांच बार ‘मैन ऑफ द सीरीज’ बने थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.